Purvanchal Ekta Manch

कार्यक्रम

श्री शिवजी सिंह, अध्यक्ष, पूर्वांचल एकता मंच "बिहार गौरव सम्मान" से सम्मानित


🙏"बिहार गौरव सम्मान"🙏🙏

श्री शिवजी सिंह, अध्यक्ष, पूर्वांचल एकता मंच "बिहार गौरव सम्मान" से सम्मानित किये गये।
श्री शिवजी सिंह को केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री, शिव प्रताप शुक्ल द्वारा एमपावरमेंट विलेजर्स एसोसिएशन (सेवा) के तत्वाधान में बिहार गौरव सम्मान दिया गया। इस मौके पर शिव जी सिंह ने कहा की उनको हमेसा ही बिहार और पूर्वांचल के लोगोका प्यार और समर्थन मिला है और समाज के कल्याण के लिए वो हमेसा तत्परता से प्रयास करते रहेंगे.


भोजपुरिया गौरव लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष श्री मती मीरा कुमार जी भोजपुरी गीत के सम्राट आदरणीय भरत शर्मा जी एह साल 10 वां विश्व भोजपुरी सम्मेलन में शिरकत करत बानी।


भोजपुरिया गौरव लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष श्री मती मीरा कुमार जी और भोजपुरी गीत के सम्राट आदरणीय भरत शर्मा जी एह साल 10 वां विश्व भोजपुरी सम्मेलन में शिरकत करत बानी।


दशवा(10th) विश्व भोजपुरी सम्मेलन पूर्वांचल एकता मंच की ओर से 7 व 8 अप्रैल 2018 को आयोजित किया जा रहा है।


पूर्वांचल एकता मंच की ओर से हर वर्ष की तरह विश्व भोजपुरी सम्मेलन का आयोजन 7 व 8 अप्रैल 2018 को दिल्ली के दादा देव मेला मैदान में किया जा रहा है। आप सभी से निवेदन है कि इस कार्यक्रम को सफल बनाने में हमारा सहयोग आप सब लोग अपनी उपस्थिति दर्ज करा कर करे। भोजपुरी भाषा और पूर्वांचल के लोगो के बिकास लिए पूर्वांचल एकता मंच पिछले 20 वर्ष से निरंतर दिल्ली और देश के अन्य राज्यो में तथा विदेशों में भी लगातार कुछ ना कुछ कार्यकम करा कर लोगो को जागरूक रखने का कार्य किया है। 


पूर्वांचल एकता मंच(रजि.) दिल्ली के तत्वावधान में 24 घण्टे के अखंड हरिकीर्तन(अष्टयाम)


पूर्वांचल एकता मंच के द्वारा पालम के दादा देव मैदान में 24 घंटे का अखंड अष्टयाम कराया गया। इस अष्टयाम में दिल्ली ही नही बल्कि पूरे देश से कई कीर्तन मंडली ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई। पूर्वांचल एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री शिव जी सिंह और राष्ट्रीय संयोजक श्री मुकेश सिंह जी ने कहा कि संस्था ऐसे ही हमेसा पूर्वांचल के लोगो को एक साथ रहने के लिए सांस्कृतिक एवं भक्ति क्रायकर्म का आयोजन करता रहेगा।


पूर्वांचल एकता मंच की ओर से 9वा विश्व भोजपुरी सम्मेलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया


पूर्वांचल एकता मंच की ओर से विश्व भोजपुरी सम्मेलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया । मंच के अध्यक्ष शिवजी सिंह ने बताया कि भोजपुरी को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल करवाने के मकसद से इस सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भोजपुरी के लोकगीत और नृत्य विलुप्त होते जा रहे हैं। नई पीढ़ी को इन तमाम परंपराओं से रूबरू कराना बेहद जरूरी है। बिहार, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड, छतीसगढ़ जैसे कई राज्यों से इस कार्यक्रम के लिए कई लोग दिल्ली पहुंचे। भोजपुरी कवि सम्मेलन में कई कवियों ने अपनी कला का अद्भुत नमूना पेश किया। सम्मेलन में लोगों ने खूब ठहाके लगाए और समारोह स्थल तालियों से गूंज उठा।